शुगर कंट्रोल करने का बेहतरीन तरीका – इन टिप्स को जरूर अपनाएं

Rate this post

शुगर अब एक आम बीमारी हो गई है और इसको नियंत्रित करने की आवश्यकता है। इस लेख मे हम आपको शुगर कंट्रोल कैसे करे इसके तरीकों के बारे में जानकारी देंगे, आप इस वेबसाइट सहित कई अन्य जगहों से भी शुगर कंट्रोल करने के तरीके के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Table of Contents

शुगर कंट्रोल कैसे करे?

मधुमेह को नियंत्रित करने के कई तरीके हैं। एक तरीका है इंसुलिन शॉट्स लेना। इंसुलिन एक हार्मोन है जो आपके शरीर को ऊर्जा के लिए चीनी का उपयोग करने में मदद करता है।

यह आपके शरीर में लिवर और मांसपेशियों में शुगर स्टोर करने में भी मदद करता है। मधुमेह को नियंत्रित करने का दूसरा तरीका स्वस्थ आहार खाना है। एक स्वस्थ आहार में ऐसे खाद्य पदार्थ शामिल होते हैं जिसमे चीनी, वसा और कैलोरी में कम होते हैं।

शुगर (डायबिटीज) क्या है?

एक पुरानी (लंबे समय तक चलने वाली) स्थिति जिसे मधुमेह, शुगर, डायबिटीज़ के रूप में जाना जाता है शरीर में भोजन को ऊर्जा में बदलने की क्षमता को प्रभावित करता है।

आपके द्वारा खाया जाने वाला अधिकांश भोजन चीनी (जिसे ग्लूकोज भी कहा जाता है) में टूट जाता है और आपके रक्तप्रवाह में आ जाता है।

आपका अग्न्याशय इंसुलिन नामक एक हार्मोन बनाता है, जो खाए जाने वाले भोजन से ग्लूकोज को आपके रक्तप्रवाह में गुजरने और आपकी कोशिकाओं में ऊर्जा के रूप में उपयोग करने के लिए एक कुंजी की तरह काम करता है।

मधुमेह एक ऐसी स्थिति है जिसमें आपका अग्न्याशय पर्याप्त इंसुलिन नहीं बनाता है या इंसुलिन जो आपका शरीर बना रहा है वह ठीक से काम नहीं करता है।

इस वजह से आपके रक्त में बहुत अधिक ग्लूकोज रहता है जो पर्याप्त मात्रा में कोशिकाओं तक नहीं पहुंचता है।

जैसे -जैसे मधुमेह आगे बढ़ता है, यह गंभीर जटिलताओं का कारण बन सकता है। यह आपकी आंखों, गुर्दे और नसों को नुकसान पहुंचा सकता है। इससे हृदय रोग, स्ट्रोक यहां तक कि पक्षाघात भी हो सकता है।

शुगर को नियंत्रित करने के घरेलू उपाय 2024

मधुमेह (शुगर) के प्रकार क्या है? 

डायबिटीज के तीन मुख्य प्रकार हैं – टाइप 1, टाइप 2 और गर्भावधि मधुमेह।

टाइप 1: डायबिटीज एक ऑटोइम्यून बीमारी है जो तब होती है जब शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली अग्न्याशय में इंसुलिन-उत्पादक बीटा कोशिकाओं पर हमला करती है और नष्ट हो जाती है।

टाइप 2: मधुमेह तब विकसित होता है जब शरीर इंसुलिन के लिए प्रतिरोधी हो जाता है या जब अग्न्याशय पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता है।

गर्भावधि मधुमेह: कुछ महिलाएं गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्त शर्करा का स्तर विकसित करती हैं। इस प्रकार के मधुमेह आमतौर पर बच्चे के जन्म के बाद चले जाते हैं।

मधुमेह (डायबिटीज) के लक्षण:-

मधुमेह के कई अलग -अलग लक्षण हैं, और वे इस बात पर निर्भर करते हैं कि आपके रक्त शर्करा का स्तर कितना अधिक है। मधुमेह वाले कुछ लोगों में कोई लक्षण नहीं हो सकता है। डायबिटीज के सबसे आम लक्षण हैं:-

  • धुंधली दृष्टि
  • ड्राई स्किन
  • बहुत थका हुआ लगना
  • चिड़चिड़ापन महसूस होना
  • सामान्य से अधिक बार पेशाब करना
  • खाने के बाद भी भूखा महसूस करना
  • चक्कर आनाबार बार प्यास लगना
  • घाव का ठीक होने में लंबा समय लेना
  • हाथों या पैरों में सुन्नता या झुनझुनी

यदि आपके पास इनमें से कोई भी लक्षण है, तो अपने डॉक्टर को तुरंत दिखाना महत्वपूर्ण है। वे आपके रक्त शर्करा के स्तर की जांच करने के लिए एक रक्त परीक्षण कर सकते हैं।

यदि आपके रक्त शर्करा का स्तर अधिक है, तो आपको उन्हें नियंत्रित करने के लिए दवा या इंसुलिन लेने की आवश्यकता हो सकती है। आपको स्वस्थ खाद्य पदार्थ खाने और नियमित व्यायाम करने की भी आवश्यकता होगी।

(शुगर) को नियंत्रण में रखने के 10 तरीके:-

शुगर एक गंभीर बीमारी है जो हृदय रोग, स्ट्रोक, गुर्दे की बीमारी, अंधापन और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती है।

अच्छी खबर यह है कि शुगर में परहेज करके शुगर को नियंत्रित किया जा सकता है। डायबिटीज वाले लोग स्वस्थ, सामान्य जीवन जी सकते हैं। यहां मधुमेह को नियंत्रण में रखने के 10 तरीके दिए गए हैं:

  • स्वस्थ आहार खाएं।
  • नियमित शारीरिक गतिविधि करें।
  • अधिक वजन वाले हैं तो वजन कम करें।
  • धूम्रपान को छोड़े।
  • रक्तचाप को नियंत्रित करें।
  • कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखें।
  • मधुमेह दवा को निर्धारित के रूप में लें।
  • नियमित रूप से अपने रक्त शर्करा की जाँच करें।
  • अपने डॉक्टर से नियमित रूप से जाँच करायें।
  • मधुमेह शिक्षा कार्यक्रम में शामिल हों।

यह आपको मधुमेह के बारे में अधिक जानने में मदद कर सकता है और खुद की देखभाल कैसे करें।

शुगर (Diabetes) को नियंत्रित करने के घरेलू उपाय:- Remedies to Lower Blood Sugar Level in Hindi

आप अपने खान-पान पर ध्यान देकर और परहेज करके मधुमेह को नियंत्रित कर सकते हैं। इसके अलावा आप कई डायबिटीज के घरेलू उपाय से भी मधुमेह को नियंत्रित कर सकते हैं।

1. सहजन के पत्ते के जूस

सहजन की पत्तियों को पीसकर, निचोड़कर और सुबह खाली पेट सेवन करने से सहजन का रस शुगर को नियंत्रित करने में भी सहायक हो सकता है। इससे ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ेगा।

2. जामुन के बीज खाएं

जामुन के बीज शुगर को नियंत्रित करने में भी फायदेमंद होते हैं। जामुन के बीजों को अच्छी तरह सुखा लें। सूखने के बाद इन्हें पीसकर पाउडर बना लें।

जामुन के बीजों को सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लें। इससे शुगर को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी।

3. तुलसी के पत्तों का प्रयोग करें

तुलसी के पत्तों में आपको एंटी-ऑक्सीडेंट के साथ-साथ कई अन्य चीजें भी मिलेंगी जो अग्नाशयी बीटा कोशिकाओं को इंसुलिन के प्रति सक्रिय बनाती हैं।

खाली पेट तुलसी के दो से तीन पत्ते चबाएं। आप चाहें तो तुलसी का जूस भी पी सकते हैं। आप चाहें तो तुलसी का रस पी सकते हैं। यह आपके रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है।

4. ग्रीन टी 

ग्रीन टी आप सुबह और शाम पीते हैं वह आपके रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करेगी क्योंकि इसमें उच्च स्तर के पॉलीफेनोल्स होते हैं।

पॉलीफेनोल्स ऐसे पदार्थ हैं जिनमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं और यह आपके रक्त शर्करा को बहुत अधिक होने से बचाने में मदद कर सकते हैं। यह मधुमेह और हृदय रोग के विकास को रोकने में मदद करेगा।

5. दालचीनी का पाउडर

भारतीय व्यंजनों में इस्तेमाल होने वाले मुख्य मसालों में दालचीनी है। दालचीनी के प्रयोग से इंसुलिन संवेदनशीलता बढ़ती है, जिससे ब्लड शुगर लेवल कम और कंट्रोल होता है। इसके रोजाना सेवन से मोटापा भी कम किया जा सकता है।

दालचीनी को पीसकर महीन चूर्ण बना लें और इसे गुनगुने पानी के साथ पिएं। मात्रा पर नजर रखना सुनिश्चित करें। इस चूर्ण का ज्यादा मात्रा में खाना खतरनाक है।

6. मेथी

मेथी एक जड़ी बूटी है जो ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित करने के लिए जानी जाती है। इसे कैप्सूल के रूप में या चाय के रूप में लिया जा सकता है।

माना जाता है कि मेथी शरीर को अधिक इंसुलिन उत्पन्न करने में मदद करती है, जो बदले में ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में मदद करती है।

शुगर कंट्रोल करने के 5 योगासन:

Yoga For Diabetes: यदि आपको लगता है कि आपका शुगर लेवल (Sugar Control) नियंत्रण में नहीं है, तो आपको हर सुबह 10 मिनट के लिए इन योगासनों (Yogasana) का अभ्यास करने की कोशिश करनी चाहिए भले ही आप प्रीडायबेटिक हों। ये पोज़ आपके शुगर लेवल को बेहतर तरीके से नियंत्रित करने में आपकी मदद करेंगे।

आप अपने डायबिटीज (Diabetes) के स्तर को नियंत्रित करने के लिए आप कुछ चीजें कर सकते हैं, जिसमें आपके आहार और जीवन शैली में परिवर्तन शामिल हैं।

इसके अतिरिक्त, कुछ योग मुद्राएँ हैं जो रक्त शर्करा नियंत्रण को बेहतर बनाने में मदद कर सकती हैं। यह आपको मधुमेह की बीमारी होने से रोकने में मदद कर सकता है।

शुगर कंट्रोल करने के 5 योगासन
शुगर कंट्रोल करने के 5 योगासन

1. कपालभाति प्राणायाम (Kapalbhati Pranayam)

कपालभाति प्राणायाम एक प्रकार का श्वास व्यायाम है जो मधुमेह वाले लोगों में तंत्रिका कार्य और ऊर्जा के स्तर में सुधार करने के लिए माना जाता है। यह रक्त प्रवाह को बेहतर बनाने और दिमाग को शांत करने में भी मदद कर सकता है।

2. शवासन योग मुद्रा (Savasana)

शवासन एक योग मुद्रा है जिसे करना आसान है और कोई भी मधुमेह रोगी इसे कर सकता है। ध्यान शरीर को आराम देने के साथ-साथ मन को शांत कर ऊर्जा का संचार कर सकता है।

3. धनुरासन (Dhanurasana)

धनुरासन अग्न्याशय को सक्रिय करने में मदद करता है, जो शरीर में रक्त शर्करा को नियंत्रित करने के लिए इंसुलिन का उत्पादन करता है। इसके अतिरिक्त यह मुद्रा पेट के सभी अंगों को मजबूत करती है और तनाव को दूर करने में भी मदद कर सकती है।

4. पश्चिमोत्तानासन (Paschimottanasana)

ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के लिए पश्चिमोत्तानासन बहुत फायदेमंद होता है। यह आसन पेट के सभी अंगों को भी सक्रिय करता है।

इससे इंसुलिन बनाने वाले अग्न्याशय पर असर पड़ता है, जो डायबिटीज में फायदेमंद होता है। साथ ही पश्चिमोत्तानासन मन की शांति और जीवन ऊर्जा को बढ़ाने में लाभकारी है।

5. अर्धमत्स्येन्द्रासन (Ardha Matsyendrasana)

अर्धमत्स्येंद्रासन मुद्रा मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह रीढ़ और पेट के अंगों को मजबूत करता है और सांस लेने में सुधार करने में मदद करता है।

शुगर में क्या नहीं खाना चाहिए (मधुमेह) रोगियों के लिए 7 सबसे खराब खाद्य पदार्थ

कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो आपके रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकते हैं, और अन्य जो आपके मधुमेह को नियंत्रित करना मुश्किल बना सकते हैं। यहाँ मधुमेह रोगियों के लिए 7 सबसे खराब खाद्य पदार्थ हैं:

1. चीनी:

चीनी में बहुत अधिक कैलोरी और कार्ब होते हैं, और यह आपके रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकता है। यदि आप मधुमेह रोगी हैं तो आपको शहद, शरबत या कैंडी नहीं खानी चाहिए।

2. सफेद ब्रेड

आपको सफेद ब्रेड और अन्य परिष्कृत कार्ब्स, जैसे पास्ता और चावल से बचना चाहिए, क्योंकि वे कार्बोहाइड्रेट में उच्च होते हैं और आपके रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकते हैं।

3. ट्रांस वसा:

ट्रांस वसा वाले खाद्य पदार्थों में कुकीज़, केक और तले हुए खाद्य पदार्थ शामिल हैं। ट्रांस वसा आपके एलडीएल (“खराब”) कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते हैं और आपके मधुमेह को नियंत्रित करना मुश्किल बनाते हैं।

4. फलों का रस:

आपको 100% फलों के रस सहित सभी फलों के रस से बचना चाहिए, और ताज़े फलों का सेवन सीमित करना चाहिए क्योंकि उनमें उच्च स्तर की चीनी और कार्बोहाइड्रेट होते हैं।

5. डेयरी उत्पाद:

दूध और पनीर जैसे डेयरी उत्पादों का सेवन आपके रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ा सकता है। आपको सभी डेयरी उत्पादों से बचना चाहिए या उन्हें कम मात्रा में सेवन करना चाहिए।

6. लाल मांस

बीफ और पोर्क जैसे लाल मांस का सेवन संतृप्त वसा और कोलेस्ट्रॉल में उच्च होता है। रेड मीट आपके लिए अपने शुगर को नियंत्रित करना भी मुश्किल बना सकता है।

7. शराब:

शराब पीने से आपका रक्त शर्करा का स्तर बढ़ सकता है और आपके शुगर को नियंत्रित करना अधिक कठिन हो सकता है। यह सलाह दी जाती है कि आप मादक पेय पदार्थों के अपने सेवन को सीमित करें या उनसे पूरी तरह से बचें।

FAQ. शुगर कंट्रोल कैसे करे के बारे में पूछे जाने वाले
सवाल-जवाब 

  1. Q. शुगर लेवल को तुरंत कैसे कंट्रोल करें?

    शुगर को तेजी से नियंत्रित करने के लिए मरीज उपवास कर सकते हैं। इस दौरान वे नींबू पानी या ग्रीन टी पी सकते हैं। लगातार उपवास करने से मधुमेह जल्दी नियंत्रित हो जाता है। इस दौरान ढेर सारा पानी पीने से शरीर के विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद मिलेगी।

  2. Q. 300 शुगर हो तो क्या करना चाहिए?

    अगर शुगर लेवल 300 से ज्यादा तो इंसुलिन लेना जरूरी हो सकता है इसे नीचे लाने के लिए खूब पानी पिएं। पानी पीने से रक्त में शर्करा की मात्रा कम करने में मदद मिलेगी। पता करें कि शुगर क्यों बढ़ी है।

  3. Q. शुगर अचानक बढ़ जाए तो क्या करें?

    ब्लड शुगर लेवल के स्तर को कम करने का सबसे आसान तरीका है पानी। इस दौरान अगरआप पानी पीते हैं तो यह आपके रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।आपको बता दें कि पानी के जरिए किडनी टॉक्सिन्स और इंसुलिन को शरीर से बाहर निकालने का काम करता है।

  4. Q. क्या पैदल चलने से शुगर कम होता है?

    हां, चलने से खून में शुगर का स्तर कम होता है। पैदल चलने से रक्त से शर्करा को कोशिकाओं में ले जाने में मदद मिलती है, दरअसल, वॉक करने से शुगर का मेटाबोलिक रेट बढ़ता है, जिससे शुगर मैनेज करने में मदद मिलती है।

  5. Q. दूध पीने से शुगर बढ़ता है क्या?

    नहीं, दूध पीने से खून में शुगर लेवल नहीं बढ़ता है।

  6. Q. डायबिटीज किस उम्र में होता है?

    बच्चों और युवा वयस्कों में टाइप 1 डायबिटीज और 40 वर्ष से अधिक आयु के वयस्कों में टाइप 2 डायबिटीज होने की संभावना अधिक होती है, खासकर यदि वे अधिक वजन वाले हों या उनका पारिवारिक इतिहास रहा हो।

  7. Q. शुगर रोगी कितना समय जिंदा रह सकता है?

    यदि वे स्वस्थ जीवनशैली का पालन करें और नियमित रूप से अपनी दवा लें तो शुगर के रोगी लंबे समय तक जीवित रह सकते हैं।

निष्कर्ष: शुगर कंट्रोल कैसे करे?

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि स्वस्थ भोजन खाएं और नियमित व्यायाम करें। यदि अधिक वजन वाले हैं, तो आपको अपने शुगर कंट्रोल करने के लिए वजन कम करने की आवश्यकता हो सकती है। साथ ही आपको मधुमेह है, तो इसे कम करने के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

डिस्क्लेमर: इस लेख में बताए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। अपनी डाइट में किसी तरह का बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

Please Share:

मैं Rjsh इस वेबसाइट baliapur.com का Founder हूँ। इस साइट के जरिए लोगों तक Blogging, Online Earning, Android, Tips & Tricks, Tech की जानकारी और मनोरंजक Content आपके साथ Share करते हैं। धन्यवाद!!!

Leave a Comment