What is The Best Type of Natural Asthma Treatment || अस्थमा का घरेलू उपचार जानिए

What is The Best Type of Natural Asthma Treatment


अस्थमा के कारण व्यक्ति को सांस लेने में कठिनाई होती है। यह फेफड़ों में वायुमार्ग से जुड़ी एक बीमारी है। जिसके कारण छाती में भारीपन और जकड़न होती है अस्थमा के विभिन्न लक्षण हैं और जितनी जल्दी आप उन्हें देखते हैं उतनी ही जल्दी आप इसका इलाज शुरू कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त अस्थमा के लिए कई घरेलू उपचार हैं। 


अस्थमा के शुरुआती लक्षण क्या है : Symptoms of Asthma


  • लगातार खांसी का होना 

अगर आपको अक्सर खांसी होती है और खांसी में ज्यादातर दौरे शामिल हैं। इसका मतलब है कि आपको अस्थमा है या हो सकता है।धूल को रोकें और उन जगहों पर न जाएं जिनमें बहुत अधिक धूल है।


  •  सांस लेते समय सीटी बजना

अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति जब आप सांस लेते हैं तो मुख से एक सीटी जैसी आवाज आती है। इसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए।


  • सीने में जकड़न और भारीपन

सांस की नाली के सिकुड़ने के कारण आपकी छाती भारी महसूस होती है और तंग महसूस करती है। ऐसे लक्षणों को नजर अंदाज न करें और एक चिकित्सक से मिलें इसका परिणाम अस्थमा हो सकता है।


  • बहुत जल्दी साँस फूलना 

यह भी अस्थमा का एक लक्षण हैं या जब कुछ भी शारीरिक कार्य करते हैं तो सांस काफी तेज हो जाती है जैसे सीढ़ियां से चढ़ना और उतरने मे साँस फूलने लगती है तो ये भी अस्थमा के लक्ष्ण है।


  • खांसीने में कठिनाई

एलर्जी वाले लोगों को सांस लेने में कठिनाई होती है और कफ को हटाने में भी कठिनाई होती है। ऐसे व्यक्ति धूम्रपान न करें और जो लोग करते हैं उनसे बचें।


  • सीने मे बेचैनी

जब आपको छाती में असुविधा होती है और सीने में घबराहट में घबराहट होती है, तो यह अस्थमा का लक्षण भी हो सकता है।


What is The Best Type of Natural Asthma Treatment


अस्थमा का घरेलू उपचार जाने: 
What is The Best Type of Natural Asthma Treatment


हमेशा बढ़ते प्रदूषण के कारण अब अधिक से अधिक लोग अस्थमा की बीमारी का सामना कर रहे हैं अस्थमा  साँस से सम्बंधित बीमारी है, लेकिन इसका वक्त रहते समय पर इलाज नहीं किया जाता है तो यह बीमारी जानलेवा भी साबित हो सकती है।


अस्थमा रोग को जड़ से समाप्त नहीं किया जा सकता है लेकिन इसे कुछ घरेलू उपचारों के साथ कम किया जा सकता है। दमा के रोगी को सांस लेने में कठिनाई होती है यह किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। आइए अस्थमा की रोकथाम के घरेलू उपचारों को समझते हैं...


कुछ घरेलू उपाय बताएँगे जिससे आपको अस्थमा की बीमारी से राहत मिल सकती है।

  • मेथी के दाने, शहद और अदरक

अगर आप अस्थमा की बीमारी से राहत पाना चाहते हैं तो एक बर्तन में पानी लें और उसे गर्म होने तक रखें, एक बार जब पानी उबलने लगे, तो इसमें थोड़ी सी मेथी के दाने डालें, फिर इसे उबालें, जब यह अच्छे से उबल जाए तो इसे छान लें और इसे रखें इसमें थोड़ा सा शहद और अदरक का जूस डालें। आप इस पानी को नियमित रूप से पिएं। इससे आप अस्थमा की समस्या से राहत मिलेगा हैं।


  • आंवला और शहद 

आंवला भी अस्थमा में काफी फायदेमंद है, इसके लिए आंवले को धूप में सुखाएं और पीस लें 2 टीस्पून आंवले के पाउडर में 1 टीस्पून शहद मिलाएं और फिर इसे सुबह खाली पेट खाएं। नियमित रूप से लेने से अस्थमा नियंत्रित होता है।


  • पालक और गाजर का जूस

अगर आप अस्थमा की बीमारी से राहत पाना चाहते हैं तो इस पेय के लिए नियमित पालक और गाजर का जूस पिये।


  • पीपल के पत्ते

इस बीमारी से राहत पाने के लिए पीपल के कुछ पत्तों को धूप से सुखाएं फिर जलाएं, इस राख में थोड़ा सा शहद मिलाएं और फिर दिन में तीन बार इसका सेवन करें इससे दमा की समस्या से जल्द छुटकारा मिलेगा।


  • अजवाइन

अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति को अजवाइन की भाप दें इससे भी उन्हें राहत मिलेगी।


  • अदरक और लहसुन 

अदरक की चाय में 2 लहसुन की कलियाँ पीसकर अस्थमा के रोगी को दें। इस चाय के सेवन से दमा ठीक रहता है और रोगी को अच्छी राहत मिलती है। या फिर लहसुन की 4-5 कलियों को 20 ग्राम दूध में उबालें और इस दूध का कुछ दिनों तक नियमित सेवन करें। यह दिन की शुरुआत में बहुत राहत देता है। 


What is The Best Type of Natural Asthma Treatment

अस्थमा की समस्या मे क्या खाना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होगा? 


जब आपको अस्थमा हो गया है तो अस्थमा से पीड़ित लोगों के लिए शुद्ध बकरी के दूध भी फायदा करता है। ऐसे समय मे अदरक, लहसुन, तुलसी, चुकंदर, फूलगोभी, गाजर का रस या भाजी का सूप या मूंग दाल का सूप पिने से राहत मिलेगी जो बेहद मूल्यवान माना जाता है।


(Disclaimer: इस पोस्ट में दी गई जानकारियां और सूचनाएं लोगो के द्वारा सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Baliapur.com इनकी पुष्टि नहीं करता है. उन्हें इस्तेमाल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से बात करें)